कविता
by रिषभ 5A

मेरे भारत की कहानी, सुनिए मेरी ज़़ुबानी।
जिश देश मे़
अंगरेज़ो को बापू ने भगाया
प्रताप ने अकबर को हराया
राज्य, अनेक पकवान, अनेक संस्कृति हैं
फिर भी सब एक है
सचिन के शत शतक, हो या हिमालय की चोटी
मिलती है यहा जड़ीबूटी
यह भारत है मेरा
जय जवान,

उच्च विचार

• काम करनेसेपहलेसोचना बुद्धिमानी,काम करतेहुए सोचना सतर्कता,और काम

करनेकेबाद सोचना मूर्खता है |

• परीक्षा तब तक कठिन मालूम होती है,जब तक कि परिश्रम सेजी जान सेऔर

More